जन्म से ही ना बोल पाटा है और ना ही हिल पाता है ,ये बच्चा फिर भी लिख दी किताब ,जाने कैसे ?

कहा जाता है की अगर किसी जिच को कर दिखाने का जज़्बा है तो कोई भी मुसीबत आपको उससे करने या आगे बढ़ने से नहीं रोक सकती है | इस बात को इंग्लैंड के एक 15 साल के बच्चे ने साबित कर दिखाया है | यह बच्चा एक ऐसी बीमारी से पीड़ित है ,जिसकी वजह से वह ना बोल पाता है और ना ही उसके शरीर का कोई अंग काम करता है |लेकिन इन सब मुसीबतो को नज़रअंदाज़ करते हुए उसने एक बुक लिख दी |

“आई कैन राइट ” नाम की बुक लिखी |
इंग्लैंड के रहने वाले 15 साल के जोनाथन ब्रायन को जन्म से ही एक गंभीर सेरेब्रल पाल्सी बीमारी है | वो हर वक़्त व्हीलचेयर पर रहता है वो अपने शरीर को हिला भी नहीं सकता | उसने “आई कैन राइट ” नाम की बुक लिख दी |

कैसे लिखी ‘आई कैन राइट ” किताब ?
जोनाथन ने ये किताब इशारो में लिख दी है | जोनाथन के माता पिता पहले उनसे इशारो में ही बात किया करते थे | 9 साल की उम्र में वह कुछ शब्दों का उपचारण करना सिख गए थे | इसके बाद ई-ट्रैन फ्रेम की मदद से वह सब से बात करने लगे थे |

क्या होता है ई-ट्रेन फ्रेम कैसे करता है काम ?
ई-ट्रैन फ्रेम कलर कोडिंग सिस्टम वाला चकौर पारदर्शी बोर्ड होता है | शरीर से लाचार व्यक्ति इसपर बने चित्रों या शब्दों को आखो के इशारो से बताता है | इसी तरह वह पूछे गए सवालों का जवाब दे सकता है |

एक सवाल से पूरी हुई किताब |
जोनाथन के माता -पिता के अनुसार ,वह बच्चे की आखो की तरफ देखते, वह आखो के इशारो से जो बताता है ,उससे लिख लिया जाता है | लिखने के दौरान उसने ईश्वर में अपने विश्वास की बात बताई है ,जो उसके जीवन का अहम हिस्सा है | इस किताब को लिखने में एक साल लगे | परिजनों की मने तो इस किताब की बिक्री से मिलने वाली रकम का इस्तेमाल ई-ट्रैन फ्रेम एजुकेशन सिस्टम को बढ़ावा देने में किया जाएगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published.

© 2022 🔥🔥Live Today🔥🔥 9,978,453 Views - WordPress Theme by WPEnjoy