‘डबल इंजन’ का प्रयोग.. जीत का बनेगा ‘संयोग’ पीएम मोदी सहयोग से राज्‍य सरकार ने बदली…

डबल इंजन की सरकार ने यूपी में विकास की रफ्तार को भी दोगुना कर दिया| प्रदेश की बदली सूरत इसकी गवाह है| प्रदेश में पहली बार विकास योजनाओं की किरण जन-जन तक पहुंच रही है| पिछली सरकार के मुकाबले मोदी सरकार ने यूपी को दोगुनी राशि दी है| जबकि लंबे समय तक केंद्र की सत्‍ता पर काबिज रही कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों ने यूपी के विकास को हाशिये पर रखा| आंकड़े खुद इसकी गवाही देते है|

केंद्र और राज्‍य की डबल इंजन सरकार के साथ काम करने से विकास ने पकड़ी रफ्तार –

उत्तर प्रदेश में विकास ने रफ्तार तभी पकड़ी जब केंद्र और राज्‍य की डबल इंजन सरकार ने एक साथ मिल कर काम करना शुरू किया है| राज्‍य सरकार को केंद्र सरकार के समर्थन के साथ भरपूर फायदा भी मिला है| केंद्र ने विकास के लिए 2017-18 में 40648.44 करोड़ रुपये, 2018-19 में 42988.48 करोड़ रुपये, 44043.96 करोड़ रुपये, 2020-21 में 57487.59 करोड़ रुपये और 2021-22 में 31 अगस्त तक 16415.61 करोड़ रुपये की धनराशि यूपी में भेजी थी|

शीर्ष स्थान पर है यूपी-

‘डबल इंजन’ सरकार के फायदे तब नज़र आए जब राज्‍य में योगी सरकार बनी| राज्‍य और केंद्र के तालमेल के अभाव में वर्षों तक विकास से वंचित यूपी को पहली बार किसी केंद्र सरकार का पूरा समर्थन मिला है| केंद्र और राज्य सरकार के एकजुट प्रयास ने चार साल में प्रदेश की सूरत ही बदल दी है| पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने अलीगढ़ दौरे में बार-बार ‘डबल इंजन’ सरकार से जनता मिल रहे फायदे की चर्चा की| डबल इंजन सरकार का ही परिणाम है कि उत्तर प्रदेश लगभग 90 प्रतिशत केंद्रीय योजनाओं के प्रभावी कार्यान्वयन में शीर्ष स्थान पर आ गया है|

Scroll to Top