पीएम मोदी के खिलाफ टिप्पणी करना मालदीव को पड़ा भारी

 

पीएम मोदी के लक्षद्वीप दौरे पर मालदीव के सांसद की पोस्ट पर विवाद के बीच आज सुबह मोदी सरकार ने मालदीव के राजदूत को तलब किया। विदेश मंत्रालय ने मालदीव के राजदूत इब्राहिम शाहीब को तलब किया। वो दिल्ली के साउथ ब्लॉक में मौजूद विदेश मंत्रालय कार्यालय पहुंचे थे। बता दें कि की मालदीव सरकार के मंत्रियों ने पीएम मोदी और भारत विरोधी बयान दिए हैं।

पीएम मोदी के खिलाफ टिप्पणी करना मालदीव को पड़ा भारी

मोदी के लक्षद्वीप दौरे पर की गई टिप्पणियों पर भारत सरकार ने कड़ा रुख अख्तियार किया है। नाराज करीब चार हजार भारतीयों ने मालदीव में होटल बुकिंग रद करा दीं। तीन हजार हवाई टिकटें रद कराई गईं। भारतीय उच्चायुक्त ने भी मालदीव सरकार के समक्ष कड़ी आपत्ति दर्ज कराई।भारत के सख्त रुख के बाद मालदीव सरकार ने अपने उन तीनों उप मंत्रियों मरियम शिऊना, मालशा शरीफ और महजूम माजिद को निलंबित कर दिया।

पीएम मोदी के खिलाफ टिप्पणी पर मालदीव सरकार ने किया है किनारा

मालदीव के विदेश मंत्रालय ने कहा,”मालदीव की सरकार विदेशी नेताओं और कुछ शीर्षस्तरीय लोगों के खिलाफ की गई अभद्र टिप्पणों के बारे में जानती है। ये व्यक्तिगत स्तर पर की गई टिप्पणियां हैं और मालदीव की सरकार इसका समर्थन नहीं करती है ।”

विदेश मंत्रालय ने आगे कहा,” हमारी सरकार मानती है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का लोकतांत्रिक व जिम्मेदारी से पालन होना चाहिए। यह नफरत, नकारात्मकता फैलाने वाला नहीं होना चाहिए और न ही इससे मालदीव के किसी दूसरे देश के साथ रिश्तों पर असर होना चाहिए। जबकि सरकार के संबंधित विभाग इस तरह की टिप्पणी करने के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कदम उठाने से नहीं हिचकेंगे।”

मालदीव के पूर्ण राष्ट्रपति ने की मरियम शिऊना की टिप्पणी की निंदा किया है

मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद ने मंत्री मरियम शिऊना की टिप्पणी पर एतराज जताया है। उन्होंने सोशल मीडिया हैंडल एक्स पर लिखा, ”मालदीव सरकार की एक प्रतिनिधि मरियम शिऊना कितनी खतरनाक भाषा बोल रही हैं।

 

Scroll to Top